A digital magazine on sexuality, based in the Global South: We are working towards cultivating safe, inclusive, and self-affirming spaces in which all individuals can express themselves without fear, judgement or shame
A young woman in a white Indian suit and red chunni standing on a balcony with a coffee mug in her hands. Her hair is let down and pulled over the left shoulder. She is smiling broadly.
CategoriesComprehensive Sexuality Educationहिन्दी

लव मैटर्स – सुरक्षित, संतोषजनक और निरपेक्ष

Pic Source: Love Matters

सेक्स और यौनिकता को लेकर हमारे समाज में बहुत सारी वर्जित बातें हैं – चाहे वो हस्तमैथुन के बारे में हो, या गर्भपात, समलैंगिकता या शादी से पहले सेक्स के बारे में। इन मुद्दों को कभी समाज और संस्कृति के नाम पर, तो कभी राजनीति, सियासत और धर्म के नाम पर और भी निषेध बना दिया जाता है। और यही वो कारण होते हैं जिस वजह से लोग इन मुद्दों को लेकर अक्सर शर्म और दबाव में रहते हैं और किसी से मदद भी नहीं मांग पाते। ये बातें विश्वव्यापी स्वास्थय सम्बन्धी मुद्दों पर किये जा रहे काम में भी अड़चने पैदा करती हैं ।

लव मैटर्स प्रोजेक्ट की शुरुआत इसलिए हुई क्यूंकि हमें एक ऐसे ज़रिए की तलाश थी जिससे लोगों तक वो जानकारी पहुंचाई जा सके जो उन्हें सूचित सेक्स सम्बन्धी निर्णय लेने में मदद करे। सेक्स से जुड़े वर्जित मुद्दे लव मैटर्स के जन्म लेने के लिए और आगे बढ़ने के लिए एक महत्पूर्ण कारण साबित हुए। लव मैटर्स भारत में फोर्ड फाउंडेशन एवं रेडियो नीदरलैंड वर्ल्ड वाइड की मदद से लोगों तक पहुंचाया जा रहा है।

सेक्स का ‘आनंद’

सेक्स का ‘आनंद’ एक ख़ास वर्जित मुद्दा है। हालाँकि हम सभी जानते हैं कि पोर्न इसीलिए इतना प्रचलित है क्योंकि लोग सेक्स के ‘आनंद’ के बारे में जानना चाहते हैं लेकिन परेशानी यह है कि पोर्न अधिकतम सिर्फ़ पुरुषों के सेक्स ‘आनंद’ को ज़्यादा दर्शाता है – वो भी अक्सर महिलाओं के साथ अनुचित व्यहवार के साथ। और साथ ही, सुरक्षित सेक्स को भी अक्सर पोर्न में अनदेखा कर दिया जाता है, जिससे काफ़ी गंभीर स्वास्थ्य सम्बन्धी उलझाव पैदा हो सकते हैं।

दूसरी ओर हैं अधिकतर प्रचलित सेक्स और प्रजनन-प्रणाली सम्बन्धी चल रहे प्रोग्राम जो कि सेक्स सम्बन्धी बिमारियों पर ही ज़्यादा दबाव देते हैं। सेक्स के ‘आनंद’ की बात अक्सर इन प्रोग्रामों में नहीं की जाती, जबकि यह सेक्स करने के सबसे महत्वपूर्ण कारणों में से एक है।

लव मैटर्स में हम सेक्स के ‘आनंद’ के बारे में बात-चीत को ज़रिया बनाकर लोगों के साथ मुश्किल सेक्स सम्बन्धी बात-चीत की शुरुआत करते हैं। हम प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुड़ी पूरी जानकारी के साथ युगलों तक पहुँचते हैं, वो भी सुरक्षित और निरपेक्ष तरीके से।

बेझिझक

लव मैटर्स हिंदी और अंग्रेजी भाषा में ऐसी यौन शिक्षा वेबसाइट है जिसमे आप सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर विस्तारपूर्वक पूरी जानकारी ले सकते हैं। ये वेबसाइट मोबाइल फ़ोन से भी आसानी से ऐक्सेस की जा सकती है। ये एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ लोग बेझिझक अपने सवाल भी पूछ सकते हैं जिनका जवाब हमारे सेक्स एक्स्पर्ट देते हैं।  इसमें लोगों की जानकारी पूरी तरह से गोपनीय रखी जाती है ताकि वो कोई भी सवाल पूछने में झिझक ना महसूस करें। यही कारण है कि भारत में लव मैटर्स आज सबसे लोकप्रिय यौन शिक्षा सम्बन्धी वेबसाइट बन चुकी है। करीब ६० लाख लोग हमारी वेबसाइट पर आ चुके हैं और हर महीने ५ लाख से ज़्यादा लोग वेबसाइट पर आकर जानकारी लेते हैं। लव मैटर्स सोशल मीडिया के ज़रिये भी लोगों तक वेबसाइट की जनकारी पहुँचाता है। भारत में फेसबुक पर लव मैटर्स आज की तारिख में सबसे ज़्यादा लोकप्रिय सेक्स और समलैंगिकता पर जानकारी देने वाला पेज है।  देखने को ये भी मिला है कि सबसे ज़्यादा लोग सेक्स के ‘आनंद’ से सम्बन्धी जानकारी लेने के लिए वेबसाइट पर आते हैं और वहीं से सेक्स सम्बन्धी अन्य विषयों पर भी जानकारी लेना और प्रश्न पूछना शुरू करते हैं।

लोगों तक लव मैटर्स के ज़रिये सेक्स और रिश्तों सम्बन्धी जानकारी पहुंचाने में मोबाइल फ़ोन एक बहुत ही ताकतवर मंच साबित हो रहा है। लव मैटर्स युगलों को इंटरनेट के माध्यम से जानकारी देता है, जिसका इस्मतेमाल लोग अपनी निजी ज़िन्दगी के संबंधों में कर पाते हैं। यहाँ वो हमारे साथ सिर्फ़ अपनी इच्छाएं ही नहीं बांटते बल्कि सेक्स और रिश्तों से जुड़े अपने डर को भी बाँटते हैं।

लोग हमसे कुछ इस तरह के सवाल पूछते हैं –
“क्या हस्तमैथुन से मेरी सेहत खराब हो जाएगी?”
“जब मैं उसके साथ सेक्स करता हूँ तो वो रोती है, मैं क्या करूँ?”
“मैं गर्भवती हूँ। क्या मैं अपनी पति को बताऊँ कि मैं एचआईवी पॉजिटिव हूँ?”
“मैं अपने सम्बन्ध को खुशनुमा कैसे बना सकता हूँ?”
“मेरे साथ बचपन में शारीरिक शोषण हुआ है जिस कारण मैं अपने पति के साथ निजी सम्बन्ध नहीं बना पा रही हूँ। मैं क्या करूँ?”

लव मैटर्स की जानकारी इन रिश्तों के दोराहे पर खड़े लोगों की सही निर्णय लेने में मदद करती है।

अधिकार, पसंद और इच्छा

जी हाँ, सेक्स के ‘आनंद’ के मुद्दे को यौन शिक्षा के अंतर्गत विवादात्मक तरीके से देखा जाता है, लेकिन इसको नज़रअंदाज़ कर देना लोगों तक सही जानकारी पहुंचाने के अवसर को खो देने जैसा है। तो पोर्न साइट्स की सफलता और यौन शिक्षा के मुद्दे पर काम करने वाली संस्थाओं के सामने आई अड़चनों को ध्यान में रखकर हमने लव मैटर्स का निर्माण किया। ये एक ऐसा निषेध-रहित प्लेटफार्म है जहाँ शर्म, झिझक और आलोचना के बगैर सेक्स और रिश्तों सम्बन्धी जानकारी मिलना मुमकिन है।

लव मैटर्स भारत के अलावा छ: और देशों में काम कर रहा है। ये एक ऐसा दृष्टिकोण है जो दुनिया के किसी भी देश में अपनाया जा सकता है – वहां के यौन शिक्षा सम्बन्धी मुद्दों और टेक्नोलॉजी को ध्यान में रखते हुए। हर देश में लव मैटर्स प्रोजेक्ट का अपना ही अलग रूप है और हमारा उद्देश्य है कि हम दुनिया भर में युगलों तक सही, सुरक्षित और निरपेक्ष जानकारी पहुंचाने वाला सबसे बड़ा माध्यम बने। लव मैटर्स में हम एक ऐसे विश्व की परिकल्पना करते हैं जहाँ प्यार, सेक्स और रिश्ते, अधिकार, पसंद और इच्छा के आधार पर बने। तो आप भी जुड़िए हमसे और दीजिए हमारा साथ!

Featured Pic Source: Vithika Yadav, Facebook

Article written by:

Vithika is a Human Rights activist with more than 10 years of experience on development issues. In her role as Head of Love Matters India, she has been articulating the compelling value of the work on sexuality and sexual health issues in India, assessing and understanding community/target audience needs, helping build a team, exploring strategic multi-stakeholder partnerships and envisioning sustainable scale up and impact of the program. In 2012 she was awarded as one of the Top 99 under 33 young foreign policy leaders in the world by Diplomatic Courier and Young Professionals in Foreign Policy in USA. Over the years, she has worked for premier organizations such as UN Office on Drugs and Crime, BBC Media Action, Free the Slaves and MTV EXIT.

x