A digital magazine on sexuality in the Global South

Author: Ankita Khanna

यौनिकता शिक्षण कार्यक्रम को अधिक समावेशी बनाने के लिए कुछ सुझाव

मेरे एक 22 वर्षीय क्लाइंट, जो आटिज्म के साथ रहते हैं और जिनकी बौद्धिक कार्य क्षमता सीमित है, हाल ही में पुलिस के चक्कर में पड़ गए क्योंकि वह दुसरे नवयुवकों को बार-बार फ़ोन कर रहे थे और कुछ ‘अनुचित सवाल’ कर रहे थे। थेरेपी के दौरान कुछ समय साथ काम करने के बाद ही…
x