Resources

संसाधन सामग्री

आत्म-देखभाल में सबसे ज़रूरी है अपने अन्तर्मन में झांकना या आत्म-निरीक्षण कर पाना, यह एक ऐसा काम है जो लोगों के बीच प्रयत्श रूप में काम करने वालों के लिए बहुत ही कठिन और लगभग असाध्य हो सकता है।  

इस पेज पर आपको तारशी द्वारा तैयार वर्कशीट्स नज़र आएंगी जो आपको आत्म-निरीक्षण करना सीख पाने की दिशा में ले जाएंगी। इस भाग में शामिल गतिविधियां आपको अपने तनाव, अपने विचारों, मनोभावों और मान्यताओं के बारे में ज़्यादा जान पाने में सहायक होंगी। ये आपके लिए आत्म-निरीक्षण के टूल्स भी साबित हो सकती हैं अगर आप इन वर्कशीट्स में शामिल प्रश्नों के मार्गदर्शन में, इनके उत्तर देते हुए खुद को अपने भीतर गहरे झाँकने की अनुमति दें। 

जैसे-जैसे आप आगे बढ़ेंगे, संभव है कि आपका सामना अपने व्यक्तित्व के कुछ ऐसे पहलुओं से हो जिनके बारे में आपको पहले पता ही न हो, या फिर अपने ऐसे विकल्पों से जिनके बारे में सोच कर भी आपको अच्छा न लगे। आपको इन प्रश्नों का सामना करने में भले ही सहज न लगे, फिर भी इनके बारे में पूरी तरह से निरपेक्ष और तटस्थ होकर विचार करना भी अपनी व्यक्तिगत यात्रा का ही एक महत्वपूर्ण भाग हो सकता है। 

हमारा आग्रह है कि आप अपने मन को पूरी तरह से खुला रखें, मस्तिष्क को शांत कर लें और अपने प्रति शांत दयालुता पूर्ण भाव रखें। 

ये वर्कशीट्स अनेक विषयों पर बनाई गई हैं। इनमें छोटी-छोटी बातों में खुशी ढूँढने से लेकर अपने तनाव के कारणों को समझना शामिल है, इनमें शरीर के स्पंदन पर ध्यान देते हुए सांस लेने से लेकर अपने मौलिक मूल्यों पर विचार करना शामिल है, इनमें अपनी यौनिकता के बारे में सकारात्म्क विचार रखकर सोचने से लेकर समानता पर आधारित एक दुनिया की कल्पना करना शामिल है। हालांकि ये सभी आत्म-देखभाल के बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू हैं, फिर भी अपनी इच्छा और मूड के आधार पर और गतिविधि को देखर आप खुद फैसला कर सकते हैं कि आप किस गतिविधि को करना चाहते हैं।  

प्रत्येक वर्कशीट एक पीडीएफ़ के रूप में खुलती है। सबसे ऊपर दाहिने हाथ पर कुछ संकेत बने हैं जिस से आप जान पाएंगे कि इस वर्कशीट का विषय क्या है, इसे पूरा करने में कितना समय लगेगा, और यह कितना कठिन या आसान हो सकता है – वर्कशीट के बारे में समझने के संकेतों का विवरण नीचे दिया गया है।  

इससे पहले कि आप सीधे वर्कशीट्स पर जाएँ, हम आपका ध्यान कुछ बातों की ओर आकृष्ट करना चाहते हैं। 

इन वर्कशीट्स में दी गई गतिविधियां कितनी लाभकारी हो सकती हैं, इसके बारे में हमनें केवल एक अनुमान के रूप में व्याख्या दी है, आप इनका प्रयोग किस तरह से करते हैं, यह बिलकुल आप पर निर्भर करता है।  

हमें यह आभास है कि इनमें से कुछ वर्कशीट्स हमारे लाभार्थियों की जाति, वर्ग या विकलांगता की स्थिति के अनुरूप उनके लिए उपयोगी नहीं होंगी या फिर उनके भाषा के ज्ञान के अनुसार भी नहीं होंगी। उदाहरण के लिए, इन में से कुछ गतिविधियों को पूरा करने के लिए आपको पूरे एकांत की ज़रूरत होगी और संभव है बहुत से लोगों को एकांत मिल पाना कठिन हो। हो सकता है किसी गतिविधि में ऐसा कुछ करने के लिए कहा जाए, जिसे करना किसी प्रतिभागी के लिए, अपनी विकलांगता के चलते संभव न हो सके। इसीलिए, अपने संभावित लाभार्थियों की विविधता को ध्यान में रखते हुए, हमें अनेक तरह की सामग्री को शामिल करने की कोशिश की है जिसमें हमारे इन लाभार्थियों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को पहले से जानने का दावा नहीं करते।  

अंत में, हम आने वाले समय में यहाँ और भी वर्कशीट्स डालते रहेंगे, इसीलिए आप नियमित अंतराल पर यहाँ आकर नई गतिविधियां देखते रहें। 

मेरी कुछ पसंदीदा चीज़ें

हमे अक्सर अपने आसपास छोटी-छोटी बातों में खुशी मिलती है। इस गतिविधि का उद्देश्य आपको उन सभी बातों या वस्तुओं का आभास कराना है जिनसे आपको खुशी मिलती है ताकि आपको ख़ुशी का अनुभव करने के विभिन्न तरीको की सराहना करने में सहायता मिले। 

अपनी श्वास प्रक्रिया चित्रित करें

गहरे आराम के लिए अपनी सांस को हाथों की हरकतों से मिलाएँ।

अपनी विरासत की कहानी लिखें

इस गतिविधि का उद्देश्य मूल रूप से आप में मौजूद सभी अच्छाइयों को सराहना है, और अभी तक लिए सभी “सही” फैसलों पर संतोष करने के साथ साथ  यह स्वीकार करना भी है कि जो कोई “गलत” विकल्प आपने चुने, वे भी आपके लिए शायद जीवन अनुभव पाने के अवसर रहे हैं |  

मैंने अपनी दिशा कैसे चुनी?

 इस गतिविधि का उद्देश्य अपने पसंदीदा काम के प्रति सजग होना है या जानना है कि जीवन में आप जो कर रहे हैं, वो क्यों कर रहे हैं? जीवन में जो कर पा रहे हैं या नहीं, इसे समझने की दिशा में यह पहला कदम होगा। 

समुत्थान को समझना

विपरीत परिस्थितियों से जूझने की अपनी क्षमता को जानना, इससे हमारे समुत्थान के बारे में क्या पता चलता है और ऐसी विपरीत परिस्थितियों में बेहतर प्रदर्शन के लिए कार्ययोजना बनाना। 

अपने मन के विचारों को पहचानें

तनाव होने की स्थिति में हमारे मन में हमेशा एक ही तरह के विचार उत्पन्न होने लगते हैं। इस वर्कशीट को पूरा करने पर, संभव है कि आप इन परेशान करने वाले विचारों को पहचान पाएंगे और इनसे दूर होकर तनाव की स्थिति से उबरने में आपको सहायता मिलेगी।   

मेरे सपनों की दुनिया

इस गतिविधि का उद्देश्य अपनी आकांक्षाओं और सपनों से अवगत होना और फिर इन्हें अपनी वास्तविक निजी और कामकाजी जीवन से जोड़कर देखना है। 

स्वयं की देखभाल की दिनचर्या का पालन सुनिश्चित करना

इस गतिविधि के साथ अपनी स्वयं की देखभाल दिनचर्या बनाएं!

सीमाओं को जानना

अपने द्वारा स्वयं के लिए बना ली गई सीमाओं को पहचानें और यह समझें कि बर्नआउट से बचाव के लिए आप किस तरह की सीमाओं का निर्धारण करना चाहेंगे।    

एक प्रेम पत्र लिखें

इस गतिविधि को करने का उद्देश्य यह है कि आप अपना मूल्य पहचानें, खुद की कद्र करें और आप जैसे हैं और जो हैं, उसी को बेहतर मानते हुए खुद से प्रेम कर पाएँ। 

मेरे तनाव के चेतावनी संकेत

तनाव हम सभी को होता ही है, लेकिन तनाव होने पर हम सभी में होने वाली प्रतिक्रियाएँ अलग हो सकती हैं। इस गतिविधि का उद्देश्य आपको तनाव होने पर अपनी मनोदशा, विचारों और प्रतिक्रियाओं के बारे में अवगत करवाना है।

अपने मूड या मन:स्थिति का चित्र बनाए मानों आप मौसम का हाल दर्शा रहे हों

इस गतिविधि का उद्देश्य किसी भी समय अपने मनोभावों को जानना है और यह समझना है कि आपको व्यथित कर रहे मन के ये भाव स्थायी नहीं होते।  

शारीरिक हलचल की समझ

शारीरिक हलचल के माध्यम से सकारात्म्क भावों का संचार। 

अपने नैतिक मूल्यों को जाने

हमारे नैतिक मूल्य हमेशा हमें अपने यथार्थ के बारे में स्मरण कराते हैं और बताते हैं कि हमारे अस्तित्व का वास्तविक लक्ष्य क्या है। इस गतिविधि का उद्देश्य आपको जीवन पथ पर चलते हुए आपके वर्तमान मूल्यों से परिचित कराना है।

स्वयं की देखभाल की मेरी वर्तमान दिनचर्या

अपनी वर्तमान स्वयं की देखभाल दिनचर्या को बेहतर ढंग से समझने के लिए इसका आकलन करें – और यदि आवश्यक हो तो अपनी ज़रूरत के मुताबिक स्वयं की देखभाल के लिए उपयुक्त कार्य चुनें।

हाँ, मैं सेक्सी हूँ

इस गतिविधि का उद्देश्य दूसरों के नज़रिये या आलोचना की फिक्र करे बिना अपनी यौन इच्छाओं को व्यक्त कर पाना और अपनी यौनिकता को स्वीकार कर इसे अधिक सशक्त करना है।

मेरी स्वयं की देखभाल के कार्यों की सूची

इस गतिविधि का उद्देश्य – स्वयं की देखभाल के कुछ अभ्यास जो ज़रूरी है और साथ साथ वो अभ्यास जिन्हे आप करने की इच्छा रखते है, इन सबकी पहचान करके उन्हें अपनी दिनचर्या में शामिल करना।

सत्ता, साधन के रूप

इस गतिविधि का उद्देश्य यह जानना है कि सत्ता की हमारे जीवन में क्या भूमिका रहती है ताकि आप अपनी देखभाल के कामों पर सत्ता के प्रभावों को समझ पाने के लिए प्रेरित हों।

Increase / Decrease
Contrast