A digital magazine on sexuality in the Global South

Author: Anonymous

Image of a hostel room

स्वीकार्यता, स्वतन्त्रता और महिलाओं का हॉस्टल 

आज मुझे लड़कियों के अपने हॉस्टल से निकले हुए तीन वर्ष हो चुके हैं, और मुझे लगता है कि हॉस्टल जीवन में मिली सभी सीखें आज भी मेरे यौनिक जीवन को सही दिशा देने में कारगर साबित हो रही हैं।
a gay man's daughter: silhouette of a man holding up his daughter

एक गे पुरुष की बेटी

क्या यह मेरे पिता की गलती थी? शुरू में, मुझे लगा कि यह उन्हीं की गलती है, लेकिन फिर मुझे समझ में आने लगा कि वह स्वयं इस स्थिति में असहाय हैं।
a gay man's daughter: silhouette of a man holding up his daughter

A Gay Man’s Daughter

Were there more people like my father? Was it legal? I read about sexual diversity and how people of all sexual orientations should have the same rights[1], the LGBT community, and so on, and what the law says about them. Though the picture is not a completely happy one, a lot of work is going on in this area and there is still hope for the future.
A fogged glass window with the word 'Delhi' outlined in it

हमारे शहर, सेक्स और दोहरे मानदंड

यहाँ लड़कियों के लिए सेक्स करना सामजिक रूप से बहिष्कृत हो जाने जैसा अनैतिक काम है या कहिये कि यह गैर-कानूनी ही है, हालांकि कानूनन इसे गैर-कानूनी घोषित नहीं किया गया है।
Black and white picture of stand-up comic Hannah Gadsby. She has short hair and wears dark glasses.

Nanette: Of Universality and Difference

In Nanette, Hannah Gadsby's hour-long Netflix special that transcends the very notions of stand-up comedy, forces of reclamation, protest, and rage culminate to form a darkly hilarious but heartbreaking diatribe against patriarchy, heteronormativity, violence and marginalisation.
Picture of a large bubble against the backdrop of a clear sky and trees

एक आकांक्षा, कुछ कश्मकश और संतुष्टि का एक अजीब तरीका

सच्चाई इस सब से परे थी; सच्चाई ये थी कि मैं एक किशोर लड़की थी जिसके मन में अनेको आकांक्षाएँ थी, वासना थी, लालसा थी और इन सब को पूरा करने के तरीके ढूँढने की ललक भी थी।
x